सिनेमा

गौकशी को लेकर बने तनाव और टकराव पर आधारित फिल्म 'उन्माद' में निगेटिव रोल में दिखेंगे अमित पुंडीर।
दिल्ली [अश्विनी भाटिया ] मेरठ के रहनेवाले युवाअमित पुंडीर को अब बॉलीवुड फिल्म उन्माद में एक सशक्त भूमिका में देखा जायेगा। आगामी 10 अगस्त को रिलीज होने जा रही है इस फिल्म के प्रदर्शित होने को लेकर अमित बहुत ही उत्साहित हैं और उनको इसके सफल होने की भी पूरी उम्मीद ही।
 
कामयाबी हेतु लग्न और कड़ी मेहनत के साथ -साथ टैलेंट भी होना जरूरी है -मॉडल एवं डायरेक्टर सुमित शर्मा
आज युवाओं में एक्टिंग और मॉडलिंग में अपना कैरियर बनाने का जनून सिर चढ़ कर बोल रहा है। इस क्षेत्र में नाम के साथ -साथ पैसा भी कमाया जा सकता है। यही कारण है कि आज का युवा इस फिल्ड में अपनी किस्मत आजमाने के लिए पुरे जोश -खरोश से अपने कदम बढ़ा रहे हैं। एक अच्छे मॉडल के लिए खूबसूरत चेहरे के साथ -साथ कसरती शरीर और टैलेंट का होना भी बहुत जरूरी है होता है।अधिकांश मॉडल यही चाहते हैं कि वह भी फ़िल्मी दुनिया में प्रवेश पाकर शिखर पर पहुंचे और लोगों में उनकी एक अलग पहचान बने। इनमें से कुछ ही भाग्यशाली लोग होते हैं जो अपने बड़े सपने साकार करने में कामयाब हो पाते हैं।
 
मॉडलिंग से शुरू होकर हिंदी फिल्मों में अपने अभिनय कौशल से ऊँचा मुकाम बनाते अभिनेता अमित पुण्डीर
आज के युवा वर्ग में मॉडलिंग को लेकर काफी क्रेज देखा जा रहा है। बहुत से नौजवान मॉडलिंग में कैरियर बनाकर सिनेमा की दुनिया में भी प्रवेश करके एक अच्छा मुकाम हांसिल करने में सफल हुए हैं। इसी क्रम में एक नाम अमित पुण्डीर का भी है जिन्होंने अपना कैरियर मॉडलिंग से शुरू किया और अब फ़िल्मी पर्दे पर भी वह अपने अभिनय कौशल के दम पर एक अमिट छाप दर्शकों के मन -मस्तिष्क में छोड़ने में कामयाब साबित हुए हैं । उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के एक गांव में सामान्य किसान परिवार में पैदा हुए अमित ने अपनी शिक्षा -दीक्षा भी यहीं से पूरी की है।बीएससी की उपाधि लेकर मॉडलिंग में अपना भाग्य आजमानेवाले अमित ने कई नामी कंपनियों में अपना फोटो शूट दिया है जिनमें मदर डेयरी ,बिग बाजार ,एस बी आई [भारतीय स्टेट बैंक ] के आलावा कई बड़ी स्थापित कंपनियों के वह ऐड मॉडल रहे हैं। मॉडलिंग की दुनिया में अपने 11 वर्ष के सफर में अमित ने लगभग 500 से भी अधिक रैम्प शो किये हैं और अपनी प्रतिभा से अच्छा नाम भी कमाया है। इसके बाद अमित ने भी अपने असली टारगेट को प्राप्त करने के लिए फ़िल्मी नगरी मुंबई की ओर अपने कदम बढ़ा दिए। अपनी ऊँची -लम्बी कद -काठी और आकर्षक व्यक्तित्व का लोहा मनवाने में अमित फ़िल्मी पर्दे पर भी सफल रहे हैं। अमित ने अब तक दो हिंदी फिल्म -मकड़जाल द पॉलिटिक्ल ट्रैप [ Makadjal The Political Trap] और ये है पैरानॉर्मल इश्क [YEH HAI PARANORMAL IISHQ ]में अपनी महत्वपूर्ण अभिनय कला से फ़िल्मी पर्दे पर भी अपना स्थान बना लिया है। भविष्य में कई बड़े प्रोजेक्ट की फिल्मों पर भी अमित को लेकर फिल्मनिर्माता काम कर रहे रहे हैं जो शीघ्र ही प्रदर्शित होंनेवाली हैं और इनमें अमित को एक अलग रूप में दर्शक देखेंगे।
 
बॉडी बिल्डिंग में मिस्टर वर्ल्ड -2018 का ख़िताब पाना ही मेरा सपना -राजीव खन्ना
आजकल युवावर्ग में जिम जाकर बॉडी बनाने का जनून काफी बढ़ता जा रहा है।कई तो घंटों पसीना बहाकर अपनी बॉडी को आकर्षक आकार देकर मॉडलिंग की ओर भी कदम बढ़ा रहे हैं। बहुत से युवा अपनी दमदार और आकर्षक बॉडी के दम पर ही कई बड़ी कंपनियों के ब्रांड अम्बेस्डर बन चुके हैं। बॉडी बिल्डिंग के शो भी कहीं न कहीं आयोजित होते हैं जिसमें शरीर सौष्ठव प्रतियोगिता में भी वह अपने शरीर का प्रदर्शन करके सम्मान प्राप्त करते हैं। बॉडी बिल्डर,न्यूट्रिशन , जिम ट्रेनर और इंटरनेशनल फिटनेस मॉडल राजीव खन्ना का नाम मॉडलिंग की दुनिया में काफी लोकप्रिय हो चुका है।
 
मॉडलिंग से शरुवात करके बॉलीवुड में अहम उपस्थिति दर्ज करवा चुके हैं राहुल चौधरी।
आज कैरियर को बनाने और रोजी -रोटी कमाने की अंधी होड़ ने बहुत सारी प्रतिभाओं को समाप्त कर दिया है। बहुत से लोग अपने अंदर मौजूद विलक्षण प्रतिभा का गला घोंटकर अनिच्छा से जीवन जीने को मजबूर हैं। आपको आज बहुत कम ऐसे युवा मिलेंगे जिन्होंने विपरीत परिस्थितियों में भी न तो अपने अंदर के कलाकार को मरने दिया और न ही अपनी दिली इच्छा को दबने दिया। अपने मन में खुद को लेकर बचपन से ही देखे हसीन सपने को साकार करने का जोखिमपूर्ण कदम उठाने वाले बहुत कम लोग ही हैं।ऐसे ही लोगों में से एक नाम राहुल चौधरी का भी है जिन्होंने अपने बचपन में खुद को अभिनेता बनाने के सपने को साकार करने हेतु सरकारी सेवा को भी तिलांजलि दे डाली।
 
पंजाबी फिल्मों का चमकता सितारा , अदभुत अभिनय क्षमता का धनी विराट महाल
पंजाब शरू से ही संगीत और साहित्य से सम्पन्न रहा है। यहां की लोक संस्कृति और सभ्यता की पहचान यहां के किस्से -कहानियों से लेकर लोकगीतों से सहज हो जाती है। यहां की मिटटी ने एक से बढ़कर एक प्रसिद्ध कवि -शायर ,प्रेम करनेवाले प्रेमी युगलों के साथ -साथ अभिनय करनेवाले नायक और कलाकार भी पैदा किये हैं जिन्होंने भारत ही नहीं पूरी दुनिया में पंजाब की संस्कृति और लोकसंगीत का डंका बजाया और जो आज भी कायम है। जहां पंजाबी मेहनतकश और जिन्दादिल कौम तो है ही वहीं युद्धकौशल में भी अपना लोहा मनवाने में सबसे ऊपर रही है। इस जिंदादिली के साथ -साथ पंजाबियों ने संगीत और अभिनय के क्षेत्र में भी अपना परचम हमेशा से पूरी दुनिया में फहराया है। पंजाबी संगीत की अहमियत इस बात से भी समझी जा सकती है कि पुराने जमाने से लेकर आज तक की भारतीय फिल्म इंडस्ट्री के सफर में जहां पंजाबियों का अधिपत्य जमा हुआ है वहीं हर हिंदी फ़िल्में में भी पंजाबी गीत -संगीत का तड़का लगाना सफलता का पैमाना माना जाता है। पंजाबी गीत और धुन के बिना फिल्म नीरस सी लगती है। यह पंजाबियों की संगीत के क्षेत्र में सम्पन्न विरासत का ही परिणाम है कि पंजाबी भाषा न समझनेवाले लोग भी पंजाबी गीतों और धुनों पर मस्त होकर थिरकने को विवश हो जाते हैं।
 
मॉडलिंग में कैरियर बनाने के लिए जी -तोड़ मेहनत कर रहा है कपिल जांगड़ा
पानीपत [अश्विनी भाटिया ] आजकल के युवाओं का रुझान अपनी बॉडी को आकर्षक बनाने और मॉडलिंग के क्षेत्र में जाने की ओर दिन प्रति दिन बढ़ता जा रहा है। इसी उद्देश्य को लिए आज के युवा जिम में घंटों वर्जिश करते हैं और अपना पसीना बहाते हैं। इसी तरह की महत्वाकांक्षा को मन में लिए यहां के कई युवा अपना पसीना जिम में बहा रहे हैं। समालखा का कपिल जांगड़ा भी इसी तरह के लक्ष्य के साथ अपनी बॉडी को मजबूत बनाकर रैम्प पर उतरने की तैयारी में लगा हुआ है।