22/03/2022
कोई भी देश अपनी उत्तम शिक्षाऔर शिक्षकों की श्रेष्ठता से ही महान होता है-अश्विनी भाटिया

रामगढ़,अलवर (रमन भाटिया)/यहां ग्राम गढ़ी में स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में गत दिनों वार्षिकोत्सव कार्यक्रम का भव्य आयोजन सफलता पूर्ण संपन्न हो गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि श्री अश्विनी भाटिया (एडवोकेट ) रहे जो कि चौधरी रामलाल भाटिया चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष भी हैं और इसी गांव के मूल निवासी हैं।कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रधानाचार्या श्रीमती मीनाक्षी शर्मा ने की और अन्य वशिष्ट अतिथि के रूप में इस विद्यालय के पूर्वऔर वर्तमान में खोह उच्च माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री नरेश भाटिया,विद्यालय विकास समिति के अध्यक्ष प्रेम स्वरूप व उपाध्यक्षा श्रीमती शशि भाटिया समाजसेवी धर्मपाल भाटिया,गांव धनेटा, बुजाका और पडावदा राजकीय विद्यालय के मुख्य अध्यापक श्री इब्राहिम,श्री महेंद्र सिंह एवम् श्री जमशेद खान,ग्रामवासी सत्यपाल भाटिया,भीम जी,प्रेम भाटिया सहित बहुत बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों ने शामिल होकर कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई।कार्यक्रम में विद्यालय के होनहार मेधावी विद्यार्थियों को अवार्ड देकर सम्मानित किया गया और बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों को उनके अनुज कक्षा के विद्यार्थियों ने गुलाल लगाकर विदाई की रस्म भी पूरी की।

इस कार्यक्रम का शुभारम्भ श्री अश्विनी भाटिया व उनकी उनकी धर्मपत्नी श्रीमती अनिता भाटिया ने मां सरस्वती जी के चित्र के समुख दीप प्रज्वलित करके किया और मां के चरणों में पुष्प अर्पित किए। कार्यक्रम में विद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा कई शिक्षाप्रद और राष्ट्रभक्ति से परिपूर्ण सांस्कृतिक कार्यक्रमों को प्रस्तुत करके आयोजन को  रोचकता प्रदान की।पूर्व वर्षों की भांति इस वर्ष भी दसवीं और बारहवीं कक्षा में सबसे अधिक अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को ट्रस्ट की ओर से स्व. वधाया राम   एवम् स्व.तुलसी बाई और स्व.रामलाल भाटिया एवम् स्व. पुष्पा भाटिया अवार्ड से सम्मानित किया गया।इन अवार्डों में प्रत्येक वर्ष  मेधावी विद्यार्थी को पांच-पांच सौ रुपए की नकद राशि प्रदान की जाती है।विद्यालय में अन्य गतिविधियों में शामिल होने वाले समस्त विद्यार्थियों को भी इस अवसर पर सम्मानित किया गया।
  कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि श्री अश्विनी भाटिया ने कहा कि किसी भी राष्ट्र को महान बनाने में उसके राष्ट्रभक्त और अनुशासित नागरिकों का मुख्य योगदान होता है,जबकि अच्छे राष्ट्रभक्त और अनुशासित नागरिकों को तैयार करने का अहम कार्य उस राष्ट्र के शिक्षकों का होता है।इसलिए यह कहा जा सकता है कि किसी भी राष्ट्र को महान बनाने में उस राष्ट्र की शिक्षा और शिक्षकों की महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है।उन्होंने कहा कि किसी भी विद्यालय को एक उत्कृष्ट विद्यालय बनाने के लिए शिक्षकों के साथ- साथ उसमें  पढ़ने वाले बच्चों और उनके अभिभावकों की भी जिम्मेदारी मुख्य रूप से होती है।एक आदर्श समाज की नींव विद्यालयों में ही रखी जाती है,क्योंकि  वर्तमान का विद्यार्थी ही भविष्य का नागरिक होता है।श्री भाटिया ने कहा कि अगर हमें समाज में महिलाओं को सशक्त बनाना है तो हमें अपनी बच्चियों को उच्च स्तरीय शिक्षा दिलाने का प्रयास करना चाहिए।शिक्षा के अभाव में कोई भी कानून समाज में महिलाओं को उनका अधिकार और उचित सम्मान नहीं दिलवा सकता।हमारी ग्राम पंचायतें और स्थानीय निकायों में आरक्षण की वजह से महिलाएं चुनाव जीतकर जन प्रतिनिधि बन तो जाती हैं, मगर शिक्षा के अभाव में उनके अधिकारों पर उनके परिवार के पुरुष ही अपना आधिपत्य जमाए रहते हैं जो कि पंचायती राज व्यवस्था की आत्मा पर सीधी चोट है।इसलिए हमें लड़कियों की शिक्षा की ओर विशेष ध्यान देना चाहिए।उन्होंने विद्यालय की प्रबंध समिति द्वारा उनको मुख्य अतिथि बनाए जाने पर सभी का आभार व्यक्त किया औरआगामी परीक्षा में बैठने वाले सभी विद्यार्थियों की सफलता की कामना भी की।अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में प्रधानाचार्या श्रीमती मीनाक्षी शर्मा ने पूरे वर्ष में विद्यालय की समस्त गतिविधियों से सभी को अवगत करवाया और विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के लिए हर संभव प्रयास करने का आश्वासन भी दिया।उन्होंने कहा कि पिछले वर्षों कोरोना महामारी के कारण विद्यालयों में पढ़ाई का कार्य सुचारू रूप से बेशक नहीं चल पाया हो,फिर भी ग्रामीण क्षेत्रों में ऑनलाइन शिक्षण की व्यवस्था से विद्यार्थियों की रुचि पढ़ाई में बनी रही।प्रधानाचार्या ने कहा कि उन्हें इस बात की खुशी है कि इस विद्यालय के साथ श्री अश्विनी भाटिया जी व उनका न्यास जुड़ा हुआ है और इसी कारण विद्यालय के विकास में कोई बाधा नहीं आती।उन्होंने कहा कि विद्यालय की कंप्यूटर और लैब का जीर्णोद्धार करवाने का निवेदन उन्होंने अश्विनी जी से किया था,ताकि बच्चों को कंप्यूटर शिक्षा का लाभ मिल सके।उनके निवेदन पर श्री अश्विनी जी ने विद्यालय के खराब कंप्यूटर और उसकी लैब को ठीक करवाने का जो कार्य किया है उसके लिए वह पूरे विद्यालय की और से मुख्य अतिथि श्री अश्विनी भाटिया जी का धन्यवाद करती हैं और आशा करती हैं कि पूर्व की भांति भविष्य में भी उनका सहयोग हमारे विद्यालय को मिलता रहेगा। कार्यक्रम को श्री ताराचंंद जी नेे  संचालित किया।


Enter your Comments :-
Comments  
  
Name :  
  
Email :  
  
 
     





कोई भी देश अपनी उत्तम शिक्षाऔर शिक्षकों की श्रेष्ठता से ही महान होता है-अश्विनी भाटिया

रामगढ़,अलवर (रमन भाटिया)/यहां ग्राम गढ़ी में स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में गत दिनों वार्षिकोत्सव कार्यक्रम का भव्य आयोजन सफलता पूर्ण संपन्न हो गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि श्री अश्विनी भाटिया (एडवोकेट ) रहे जो कि चौधरी रामलाल भाटिया चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष भी हैं और इसी गांव के मूल निव


दिल्ली बार कौंसिल के नवनिर्वाचित चेयरमैन श्री राकेश सेहरावत का किया गया हार्दिक अभिनंदन।

दिल्ली (अश्विनी भाटिया)/यहां दिल्ली बार कौंसिल के नवनिर्वाचित चेयरमैन श्री राकेश सेहरावत का स्थानीय अधिवक्ताओं ने नागरिक अभिनंदन किया।समारोह में शाहदरा बार एसोसिएशन के पूर्व सचिव प्रवीण चौधरी विशेष रूप से उपस्थित हुए। ज्ञात हो कि श्री सेहरावत को दिल्ली बार कॉन्सिल का निर्विरोध रूप से चेयरमैन निर्वाच


श्री कृष्ण को पूजने से अधिक उनके दिखाए मार्ग पर चलने में ही हमारा कल्याण।

शाहदरा(रमन भाटिया)।भगवान श्री कृष्ण के अवतरण दिवस (कृष्ण जन्माष्टमी) को स्थानीय राधा कृष्ण मंदिर, गीता भवन में बड़ी धूमधाम से मनाया गया। कोविड -19 के कारण इस बार भी मंदिर के बाहर से ही श्रद्धालुओं और भक्तों ने भगवान श्री कृष्ण जी के दर्शन लाभ कर आशीर्वाद प्राप्त किया। इस अवसर पर बड़े सुंदर मंदिर को सजाया गया


अफगानिस्तान भी हुआ हिन्दू -सिख विहीन राष्ट्र। क्या इस्लाम प्रेम और शांति का पैगाम देता है?

दिल्ली(अश्विनी भाटिया)/आज से 14 सौ वर्ष पूर्व अस्तित्व में आया इस्लाम अब तक कई सभ्यताओं और राष्ट्रों को निगल चुका है। दूसरी सभ्यताओं और धार्मिक मान्यताओं को नेस्तनाबूद करने की प्रक्रिया अभी भी जारी है।अफगानिस्तान राष्ट्र का ताजा उदाहरणआज हमारे सामने है जो अब पूरी तरह से गैर मुस्लिम यानि हिन्दू -सिख विहीन


आर एस चौधरी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा जरूरतमंद लोगों को फ्री राशन और राखी का वितरण।

दिल्ली(रमन भाटिया)।यहां गीता भवन,भोलानाथ नगर, शाहदरा में आर एस चौधरी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा लगभग 500 गरीब परिवारों को फ्री राशन और राखी का वितरण किया गया।कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पूर्वी दिल्ली नगर निगम के महापौर श्री श्याम सुंदर अग्रवाल जी रहे।


देश विभाजन और लाखों लोगों की हत्या के लिए गांधी,नेहरूऔर जिन्ना दोषी।

दिल्ली(अश्विनी भाटिया)/आज से 74 वर्ष पूर्व जहां भारत को अंग्रेजी साम्राज्य से मुक्ति मिली,वहीं भारत को विभाजन का दर्द भी मिला। को धार्मिक हिन्दू- मुस्लिम आधार पर दो टुकड़ों में विभाजित करवाने के जिम्मेदार नेहरू और मोहम्मद अली जिन्ना को जहां राजसत्ता मिली वहीं करोड़ों लोगों को अपने ही देश में शरणार्थी बन ज


ममता ने संवैधानिक मर्यादाओं को किया तार-तार।बंगाल की हिंसा को सरकार का संरक्षण।- विजयवर्गीय

दिल्ली(अश्विनी भाटिया)/ दिल्ली प्रदेश भारतीय जनता पार्टी कार्यालय में राष्ट्रीय महासचिव और बंगाल के प्रभारी श्री कैलाश विजयवर्गीय ने सुलगते बंगाल विषय पर 'देश के साथ एक संवाद' कार्यक्रम को VC के माध्यम से पार्टी के कार्यकर्त्ताओं को संबोधित किया।


भोलानाथ नगर मेन रोड का नामकरण लाला सूरज भान जैन के नाम से किया गया।

शाहदरा(रमन भाटिया)/यहां भोलानाथ नगर मेन रोड( नियर स्टेट बैंक) का नामकरण लाला सूरज भान जैन के नाम पर कर दिया गया। ज्ञात हो कि स्वर्गीय जैन साहब जनसंघ के समय से ही पार्टी के साथ जुड़े हुए थे और पूर्वी दिल्ली के महापौर निर्मल जैन जी उन्हीं के सपुत्र हैं। स्व. सूरज भान जी आपात काल में जेल में भी रहे और सामाजिक कार्


आर एस चौधरी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा जरूरत मंद परिवारों को किया गया राशन किट का वितरण।

शाहदरा(रमन भाटिया)।यहां आर एस चौधरी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा श्री नरेंद्र मोदी सरकार के सात वर्ष सफल कार्यकाल के पूर्ण होने पर जरूरत मंद परिवारों को सूखे राशन का वितरण किया गया। ज्ञात हो कि ट्रस्ट द्वारा कोरोना काल में राशन वितरण का यह तीसरा अवसर था। कार्यक्रम में निगम पार्षद संजय गोयल, वरिष्ठ पत्रकार व अध


खुद को मिले अन्नदाता के सम्मान की लाज बनाए रखें किसान। नए कृषि कानून उनके नहीं दलालों के विरूद्ध हैं।

दिल्ली (अश्विनी भाटिया)/लोकतंत्र में सभी को अपनी बात रखने और सरकार का विरोध करने का अधिकार है, परंतु यह अधिकार दूसरों के अधिकारों का हनन करने लगे तो फिर कानून की यह जिम्मेदारी बन जाती है कि वह अपनी जिम्मेदारी निभाए। किसानों को सरकार द्वारा बनाए गए नए कृषि कानूनों को लेकर अपना विरोध प्रकट करने का पूरा अधिकार