09/01/2016
भूखंड आवंटन में धांधली पर एसीईओ ने कसा शिकंजा

ग्रेटर नोएडा। किसानों से अर्जित भूमि की एवज में दिए जाने वाले छह फीसद भूखंडों के आवंटन में विभागीय लोगधांधली नहीं कर सकेंगे। एसीईओ पीसी गुप्ता ने अलग-अलग नाम भेजकर भूखंड आवंटन पर रोक लगा दी है। अब समूचे गांव के सभी पात्र किसानों की सूची एक बार में ही मंजूर की जाएगी। भूखंडों की लोकेशन भी प्रबंधक अपनी मर्जी से नहीं कर सकेंगे। समूचे गांव की सूची बनाने के बाद वर्णमाला के क्रम में भूखंडों के नंबर दिए जाएंगे। यह व्यवस्था तत्काल प्रभाव से लागू कर दी गई है।

किसी प्रबंधक ने नियम की अनदेखी कर भूखंडों का आवंटन किया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि प्राधिकरण किसानों को अर्जित भूमि की एवज में कुल क्षेत्रफल का छह फीसद हिस्सा विकसित भूखंड के रूप में वापस देता है। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने इसे बढ़ाकर दस फीसद कर दिया है, लेकिन दस फीसद भूखंड उन्हीं किसानों को दिए जा रहे हैं, जिन्होंने कोर्ट में याचिका दायर की थी। जिन किसानों ने कोर्ट में याचिका दायर नहीं की थी, उन्हें छह फीसद भूखंड ही मिलेंगे। प्राधिकरण के आला अफसरों को शिकायत मिल रही थी कि भूखंड आवंटन में गड़बड़ी की जा रही है।    



Comments  
  
Name :  
  
Email :  
  
Security Key :  
   9232777
 
     





दिल्ली की चौपट होती कानून -व्यवस्था और अपराधियों के बढ़ते हौंसले को कौन संभालेगा ? गृहमंत्री राजनाथ जी।

दिल्ली [अश्विनी भाटिया]  देश की राजधानी दिल्ली में पिछले कुछ समय से कानून -व्यवस्था बिगड़ती जा रही है। आये दिन लूटपाट ,चोरी और मारपीट की घटनाएं तो एक तरफ खुनी गैंगवार की घटनाएं का ग्राफ भी बहुत ऊपर की ओर चढ़ता जा रहा हैं। दिल्ली में पुलिस सीधे -सीधे उपराजयपाल के माध्यम से केंद्रीय गृहमंत्री के नियंत्रण में ह


भूखंड आवंटन में धांधली पर एसीईओ ने कसा शिकंजा

ग्रेटर नोएडा। किसानों से अर्जित भूमि की एवज में दिए जाने वाले छह फीसद भूखंडों के आवंटन में विभागीय लोगधांधली नहीं कर सकेंगे। एसीईओ पीसी